भारत का संविधान: सभी अनुच्छेदों की सूची (1-395) और भाग (1-22)

यदि आप नवीनतम संवैधानिक संशोधनों तक अद्यतन भारत के संविधान का एक सूचकांक या सारांश खोज रहे हैं, तो यह पोस्ट शुरू करने के लिए सही जगह होनी चाहिए। भारत के संविधान में 22 भागों में 395 अनुच्छेद हैं। अतिरिक्त लेख और भाग बाद में विभिन्न संशोधनों के माध्यम से सम्मिलित किये जाते हैं। भारतीय … Read more

महाबलीपुरम में स्मारकों का समूह – यूनेस्को विश्व विरासत स्थल

महाबलीपुरम चेन्नई से 50 किलोमीटर दक्षिण में पल्लव साम्राज्य (7वीं – 8वीं शताब्दी) का प्राचीन बंदरगाह, महाबलीपुरम (जो पारंपरिक रूप से ममल्लापुरम के रूप में जाना जाता है) स्थित है। इसे 1984 में यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया था। यहाँ के परिसर में चट्टानों को काटकर बनाए गए मंदिर, एकाश्म (एक शिला … Read more

2023 का G20 शिखर सम्मेलन: भारत का भू-राजनीतिक दृष्टिकोण/2023 G20 Summit: India’s geopolitical perspective

भारत 1 दिसंबर 2022 से G20 की अध्यक्षता की शुरुआत की थी। कोविड-19 महामारी, रूस-यूक्रेन भू-राजनीतिक तनाव (Geopolitical Tensions) और वैश्विक खाद्य एवं ऊर्जा सुरक्षा से जुड़ी चुनौतियों के लंबे समय तक असर के बीच भारत ने एक समावेशी दृष्टिकोण अपनाया है। भारत ने G20 के मंच का इस्तेमाल बहुपक्षवाद (Multilateralism) को बढ़ावा देने और … Read more

भारत की अवस्थिति और विस्तार

भारत का सामान्य परिचय विश्व की प्राचीनतम संस्कृतियों में से एक है। पिछले पाँच दशकों में भारत ने सामाजिक-आर्थिक रूप से बहुमुखी उन्नति की है। कृषि, उद्योग, तकनीकी और सर्वांगीण आर्थिक विकास में अद्भुत प्रगति हुई है। प्राचीन काल से ही भारत का विश्व इतिहास में भी महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है। भारत एक बड़े भौगोलिक … Read more

भारत के संविधान का इतिहास और विकास

संविधान क्या है?(What is Constitution?) संविधान नियमों, उपनियमों का एक ऐसा लिखित दस्तावेश होता है, जिसके अनुसार सरकार का संचालन किया जाता है। यह देश की राजनीतिक व्यवस्था का बुनियादी ढाँचा निर्धारित करता है। संविधान राज्य की विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका की स्थापना करता है, उनकी शक्तियों तथा दायित्वों का सीमांकन एवं जनता तथा राज्य … Read more

महाबलीपुरम (मामल्लापुरम) के तट मंदिर

तट मंदिर, मामल्लापुरम, भारत (फोटो: केनवॉकर , CC-BY-SA-3.0) समुद्र तट पर अद्भुत परिदृश्य तमिलनाडु की कोई भी यात्रा ऐतिहासिक शहर महाबलीपुरम या मामल्लपुरम की यात्रा के बिना पूरी नहीं होती है। यदि आपके मन में सप्ताहांत में चेन्नई जाने का विचार है, तो महाबलीपुरम के तट मंदिर (जिसे मामल्लापुरम के नाम से भी जाना जाता है) की … Read more

सिनौली का रहस्य: सेंचुरी की खोज

चार हजार वर्ष पुरानी सभ्यता को समेटे है बागपत का सिनौली गांव। सिनौली (Sinauli) ऐतिहासिक दृष्टि से महत्त्वपूर्ण एक पुरातात्विक स्थल है क्योंकि जो यहाँ मिला, अब तक कहीं और नहीं मिला।यह सिनौली है यहाँ मिल चुके हैं मानव कंकाल, रथ, तलवार और ताबूत। चार हजार वर्ष पुरानी सभ्यता को समेटे है अपना यह सिनौली। … Read more

भारत की पंचवर्षीय योजनाएँ

पंचवर्षीय योजनाओं का इतिहास: पंचवर्षीय योजना (FYP) की अवधारणा: पंचवर्षीय योजना विशेषताएँ प्रथम पंचवर्षीय योजना (1951-56) >भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने भारतीय संसद में इसे प्रस्तुत किया था।>इसमें मुख्यतः कृषि क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित किया गया था, जिसमें बाँधों और सिंचाई में निवेश शामिल था। उदाहरण के लिए भाखड़ा नंगल बाँध के लिए भारी राशि का आवंटन किया गया था।>यह योजना हैरोड-डोमर मॉडल पर … Read more

सिंधु घाटी सभ्यता

एक परिचय: हड़प्पा सभ्यता के महत्त्वपूर्ण स्थल: स्थल खोजकर्त्ता अवस्थिति महत्त्वपूर्ण खोजें हड़प्पा दयाराम साहनी(1921) यह स्थल पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मोंटगोमरी जिले में रावी नदी के तट पर स्थित है। >मनुष्य के शरीर की बलुआ पत्थर की बनी मूर्तियाँ>अन्नागार>बैलगाड़ी मोहनजोदड़ो(मृतकों का टीला) रखालदास बनर्जी(1922) यह स्थल पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के लरकाना जिले … Read more

राजस्थान की आहड़ संस्कृति

राजस्थान के हनुमानगढ़ ज़िले में कालीबंगा हड़प्पा या सिंधु घाटी सभ्यता का एक महत्वपूर्ण स्थल है। लेकिन क्या आपको मालूम है कि राजस्थान में सौ से भी ज़्यादा ऐसे स्थल हैं जो आहड़ संस्कृति के समय के हैं? इनमें से ज़्यादातर मेवाड़ क्षेत्र, जो दक्षिण-पूर्व राजस्थान में फैला हुआ है, में स्थित हैं। मेवाड़ क्षेत्र … Read more